25.2 C
Rishikesh
Saturday, May 28, 2022

हार्ट की बीमारी से बचना है तो अभी से शुरू कर दें वजन घटाना, डॉक्टर से जानें वेट लॉस के 5 उपाय

- Advertisement -

हार्ट की बीमारी से बचना है तो अभी से शुरू कर दें वजन घटाना, डॉक्टर से जानें वेट लॉस के 5 उपाय

20 जनवरी को वूमन हेल्‍दी वेट डे मनाया जाता है और इसी कड़ी में आज हम बात करेंगे कि मोटापा हार्ट ड‍िसीज को न्‍यौता कैसे देता है यानी अगर आपका वजन बढ़ा हुआ है तो ये आपके हार्ट को कैसे नुकसान पहुंचा सकता है। ज‍िन मह‍िलाओं का वजन ज्‍यादा होता है उन्‍हें हार्ट से जुड़ी समस्‍याएं जैसे हार्ट फेल‍ियर, हार्ट अटैक, अन‍ियम‍ित धड़कन आद‍ि समस्‍याएं हो सकती हैं। मह‍िलाओं में हार्ट ड‍िसीज का खतरा बढ़ने से प्रेगनेंसी के दौरान प्रीटर्म ड‍िलीवरी का खतरा बढ़ जाता है इसल‍िए आपको वजन कंट्रोल करना चाह‍िए। उम्र और कद के मुताब‍िक आपका वजन होने से आप हार्ट ड‍िसीज से बच सकती हैं और हेल्‍दी लाइफ जी सकती हैं। इस लेख में हम वजन बढ़ने के कारण हार्ट ड‍िसीज का खतरा और वजन कम करने के तरीकों के बारे में चर्चा करेंगे।

healthy weight

image source:google

वजन बढ़ने से हार्ट की कौनसी समस्‍याएं हो सकती हैं? (Weight gain leads to heart diseases)

एक्‍सपर्ट्स का मानना है क‍ि वजन बढ़ने के साथ हार्ट ड‍िसीज का खतरा भी बढ़ जाता है। जैसे-जैसे मोटापा बढ़ता है, हार्ट का साइज भी बढ़ने लगता है ज‍िससे हार्ट अटैक या स्‍ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। द‍िल का साइज बढ़ने का बुरा असर धकड़नों पर पड़ता है और आपको कभी भी अटैक आ सकता है। वजन बढ़ने से द‍िल के ऊपरी ह‍िस्‍से का साइज बढ़ जाता है ज‍िससे हार्ट को पंप करने में द‍िक्‍कत होती है। हार्ट र‍िस्‍क को कम करने के ल‍िए आपको सबसे पहले वजन कम करना चाह‍िए। हार्ट ड‍िसीज के कारण हाई बीपी, हार्ट फेल‍ियर, हार्ट अटैक, स्‍ट्रोक, मेटाबॉल‍िक स‍िंड्रोम का खतरा बढ़ जाता है। मोटापे के कारण बैड कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है ज‍िससे हार्ट ड‍िसीज होने का ज्यादा खतरा रहता है।

इसे भी पढ़ें- पीर‍ियड्स के दौरान हो रही है हैवी ब्लीडिंग? इसे रोकने के लिए अपनाएं ये 5 उपाय

बार-बार वजन घटना या बढ़ना भी देता है हार्ट ड‍िसीज को न्‍यौता 

अगर आपका वजन बार-बार कम या ज्‍यादा होता है तो भी हार्ट ड‍िसीज का खतरा बढ़ जाता है। वजन में उतार-चढ़ाव के कारण ब्‍लड प्रेशर बढ़ने की समस्‍या, कोलेस्‍ट्रॉल, ब्‍लड शुगर की समस्‍या हो सकती है ज‍िससे हार्ट अटैक आ सकता है। सामान्‍य शरीर के मुकाबले मोटी मह‍िलाओं को हार्ट अटैक आने का खतरा 127 प्रत‍िशत बढ़ जाता है। अगर आपका वजन ज्‍यादा है तो द‍िल का ऊपरी भाग ज‍िसे हम एट्र‍िया कहते हैं उसे पंप करने में द‍िक्‍कत होती है ज‍िससे द‍िल की धड़कन कम हो जाती हैं। अन‍ियम‍ित द‍िल की धड़कन से हार्ट अटैक आने की आशंका ज्‍यादा रहती है।

इसे भी पढ़ें- प्रेग्नेंसी में Low BP की समस्या को कैसे दूर करें? डॉक्टर से जानें आसान उपाय

वजन कम करने के आसान तरीके (Easy ways to reduce weight)

walk and heart health

image source:hearstepp.com

वजन कम करने के ल‍िए आप इन 5 आसान उपायों को जरूर अपनाएं, इन तरीकों को एक महीने तक फॉलो करने पर ही आपको फर्क महसूस होगा-

1. प्रोसेस्‍ड फूड्स, मसालेदार खाना, तैलीय और पैक्‍ड फूड बंद करें, अपनी डाइट में ताजी सब्‍ज‍ियां, अनाज, फल‍ियां, बीन्‍स, दाल शाम‍िल करें।

2. आपको ज्‍यादा से ज्‍यादा पानी पीने की कोश‍िश करनी है, चाय की जगह ब्‍लैक टी या ग्रीन टी का सेवन करें, पैक्‍ड जूस का सेवन भी नहीं करना है। 

3. रोजाना 40 म‍िनट वर्कआउट करें, वर्कआउट में आप योगा, मेड‍िटेशन, कॉर्ड‍ियो, जॉग‍िंग आद‍ि को शाम‍िल करें, फन वर्कआउट में आप डांस कर सकती हैं।

4. शुगर ड‍िटॉक्‍स चैलेंज लें, आप अपने रूटीन से चीनी पूरी तरह से हटा दें, चीनी के व‍िकल्‍प को भी आपको सीमित मात्रा में ही लेना है, इसका ज्‍यादा सेवन करने से बचें।

5. ल‍िफ्ट की जगह सीढ़‍ियों का इस्‍तेमाल करें, अपने खाने का पोर्शन कम करें, रात को 8 बजे के बाद खाना न खाएं। समय पर नींद लें और स्‍ट्रेस से दूरी बनाए रखें।

वजन कम करने के ल‍िए हेल्‍दी डाइट और एक्‍सरसाइज का रोल अहम है, इन दो चीजों का ध्‍यान रखकर आप हेल्‍दी वेट मेनटेन कर सकते हैं और ओवरवेट होने से बच सकते हैं।

main image source:hearstepp.com

- Advertisement -

Related Articles

Latest Articles