25.2 C
Rishikesh
Saturday, May 28, 2022

पैर की नसों में दर्द से रहते हैं परेशान? इसे दूर करने के लिए अपनाएं ये 5 आयुर्वेदिक उपाय, जल्द मिलेगी राहत

- Advertisement -

पैर की नसों में दर्द से रहते हैं परेशान? इसे दूर करने के लिए अपनाएं ये 5 आयुर्वेदिक उपाय, जल्द मिलेगी राहत

गलत अवस्था में बैठे रहना, लंबे समय तक पैरों को मोड़कर बैठना और योगाभ्यास न करना पैर के नसों में दर्द होने के कारण होते हैं। पैर के नसों में दर्द होने पर अधिकतर लोग फिजियोथेरेपी का सहारा लेते हैं, तो कुछ लोग दर्दनिवारक दवाइयां लेते हैं। लेकिन आप चाहें तो कुछ आयुर्वेदिक तरीकों से भी पैरों के दर्द से राहत पा सकते हैं। बढ़ती उम्र में यह समस्या अधिक देखने को मिलती है। पैरों की नसों में दर्द को दूर करने के लिए आपको हेल्दी डाइट लेनी चाहिए, पैरों को स्ट्रेच करने वाली एक्सरसाइज करनी चाहिए। साथ ही पैरों की मालिश करके भी नसों में होने वाले दर्द से राहत पा सकते हैं। इससे आपको काफी आराम मिलेगा। आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा से जानें पैर के नसों में दर्द के लिए आयुर्वेदिक उपाय-

पैर की नसों में दर्द होने के कारण (nerve pain in leg causes)

पैर की नसों में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं। इसमें चोट लगना, नसों तक खून की आपूर्ति न हो पाना, साइटिका और स्ट्रोक शामिल हैं। इनके अलावा शरीर में विटामिंस की कमी होने पर भी पैर की नसों में दर्द हो सकता है।

पैर की नसों में दर्द को ठीक करने के आयुर्वेदिक उपाय (Ayurvedic Treatment for Nerve Pain in Legs)

haridra

1. हरिद्रा

हरिद्रा एक ऐसी जड़ी-बूटी है, जिसका एक अलग पीला रंग और तीखा स्वाद होता है। आयुर्वेद में कई रोगों को दूर करने के लिए हरिद्रा का उपयोग किया जाता है। आप पैर की नसों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हरिद्रा का उपयोग कर सकते हैं। हरिद्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स औस सूजन रोधी गुण होते हैं। साथ ही यह रक्त के प्रवाह को भी बेहतर करता है। नसों में दर्द से राहत पाने के लिए हरिद्रा उपयोगी है। इसका सेवन आप अर्क, काढ़ा और पाउडर के रूप में कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – लिवर सिरोसिस का आयुर्वेदिक इलाज: एक्सपर्ट से जानें 5 जड़ी-बूटियां, जो लिवर सिरोसिस की समस्या में हैं फायदेमंद

2. तिल के तेल से करें मालिश 

आयुर्वेद में नसों को स्वस्थ रखने के लिए मालिश को काफी महत्व दिया गया है। साथ ही आयुर्वेद में तिल के तेल की भी अहम स्थान दिया गया है। नियमित रूप से शरीर की मालिश करने से नसों में रक्त का प्रवाह बेहतर होता है। अगर आप नियमित रूप से पैरों की मालिश करेंगे, तो इससे नसों में होने वाले दर्द से आराम मिलेगा। इसके लिए आप तिल के तेल का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो अदरक और लैवेंडर ऑयल से नसों की मालिश कर सकते हैं। इससे तनाव दूर होगा, दर्द में भी आराम मिलेगा। आप सोने से पहले तिल के तेल से पैरों की मालिश कर सकते हैं।

3. योगाभ्यास

मांसपेशियों और नसों को दुरुस्त रखने के लिए नियमित रूप से योगाभ्यास करना भी जरूरी होता है। योग करने और स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने से नसों के दर्द में काफी आराम मिलता है। अगर आप रोजाना योगाभ्यास करेंगे, तो आपको नसों के दर्द काफी हद तक कम रहेगा। साइटिका नर्व पेन के लिए भी योगाभ्यास करना जरूरी होता है। इससे मांसपेशियां मजबूत बनती हैं, नसों में रक्त का प्रवाह बेहतर होता है।

4. मेथी

मेथी की तासीर काफी गर्म होती है, इससे नसें मजबूत बनती हैं। साथ ही मेथी में प्रोटीन, विटामिन सी, कैल्शियम और आयरन भी काफी अच्छी मात्रा में होता है। इससे पैरों में होने वाले दर्द से आराम मिलता है। पैर की नसों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए अपनी डाइट में मेथी को जरूर शामिल करें। मेथी के बीज नसों के दर्द से राहत दिलाते हैं।

bhoomi amla

5. भूमि आवंला

भूमि आंवला एक आयुर्वेदिक दवा है। इसके फल आंवले जैसे दिखाई देते हैं। यह एक छोटा सा पौधा होता है। आयुर्वेद में इस जड़ी-बूटी का उपयोग कई रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है। भूमि आंवला काफी फायदेमंद होता है। आप चाहें तो पैर के नसों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी भूमि आंवला का उपयोग भी कर सकते हैं। भूमि आंवला वात से संबंधित रोगों को दूर करने में लाभकारी होता है। यह जड़ी-बूटी सूजन, दर्द में आराम दिलाता है। आप पाउडर, अर्क और जूस के रूप में इसका सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – साइनस का आयुर्वेदिक इलाज: साइनस की समस्या में आजमाएं ये 5 आयुर्वेदिक नुस्खे, जल्द मिलेगी राहत

अगर आप पैर की नसों में दर्द से परेशान हैं, तो ऊपर बताए गए इन आयुर्वेदिक उपायों का आजमा सकते हैं। लेकिन यह दर्द को दूर करने का संपूर्ण इलाज नहीं है। दर्द से राहत न मिलने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

- Advertisement -

Related Articles

Latest Articles